गर्भपात की दवा कैसे खाएं / bacha girane ki dawai | गर्भपात की गोली का नाम

गर्भपात की दवा कैसे खाएं / bacha girane ki dawai | गर्भपात की गोली का नाम – कुछ विवाहित कपल बच्चो की परवरिश करने के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं होते हैं. कुछ महिलाएं कैरियर तथा यौन उत्पीड़न का शिकार होती है. इस वजह से उन्हें मजबूरन गर्भपात करवाना पड़ता हैं.

बहुत से लोग ऐसे होते है. जो गर्भनिरोधक दवाई और गर्भपात की दवाई के बीच का अंतर नहीं जानते हैं. जबकि गर्भनिरोधक दवाई गर्भधारण होने से बचाती है. तथा गर्भपात की दवाई भ्रूण को नष्ट करके बच्चा गिराने का काम करती हैं.

Garbhpat-ki-dwa-kaise-khae-bacha-dawai-girane-goli-nam (3)

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की गर्भपात की दवा कैसे खाएं. तथा गर्भपात की दवाई और गर्भपात की दवा से होने वाले नुकसान के बारे में बताने वाले हैं. इसके साथ साथ गर्भपात से जुडी अन्य और भी बातों पर चर्चा करेगे.

तो आइये इस बारे में हम आपको संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

धंसी हुई आंखों को बाहर निकालने का तरीका / आँखे अंदर जाने का कारण

गर्भपात की दवा कैसे खाएं

काफी महिलाएं और लोग इंटरनेट पर गर्भपात की दवा खाने का तरीका सर्च करते हैं. लेकिन गर्भपात की दवा ऐसे ही आसानी से नहीं मिलती हैं. बिना डॉक्टर की पर्ची गर्भपात की दवा आप किसी भी मेडिकल स्टोर से खरीद नहीं सकते हैं. तो खाने का सवाल ही पैदा नहीं होता.

यह सभी दवा डॉक्टर के निर्देशानुसार दी जाती है. क्योंकि गर्भपात की दवाई खाने के बाद शरीर को काफी सारे नुकसान भी हो सकते है. जिसकी चर्चा हम इस आर्टिकल में आगे करेगे.

गर्भपात की दवा खाने के लिए या फिर गर्भपात करवाने के लिए नीचे लिखी हुई बातों का पालन करे.

  • सबसे पहले तो डॉक्टर के पास जाए.
  • वहां पर डॉक्टर आपके भ्रूण की अच्छे तरीके से जांच करेगे.
  • आपका स्वास्थ्य और भ्रूण का विकास कितना हुआ है. इस आधार पर दवाई का चयन डॉक्टर द्वारा किया जाएगा.
  • यदि दवा के द्वारा गर्भपात संभव होगा. तो हमने नीचे कुछ गर्भपात की दवाई के नाम बताए है. उसमे से किसी एक दवा का चयन करके डॉक्टर आपको देगे. और उस दवाई को किस तरह लेना है इसकी सलाह देगे.
  • खुद से कभी भी दवा का सेवन नहीं करे. यह आपको नुकसान पहुंचा सकती हैं.
  • गर्भ और गर्भपात से संबंधित कोई भी परेशानी होने पर इंटरनेट पर सर्च करने की बजाय तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे.

गर्भपात के लिए दो दवाई डॉक्टर के द्वारा दी जाती है. दोनों दवाई डॉक्टर के सामने ही  दी जाती है. तथा पहली गोली देने के बाद दूसरी गोली 48 घंटो के अन्तराल के बाद डॉक्टर के पास जा कर लेनी होती है.

पहली दवाई गर्भाशय की सतह को तोड़ देती है .और गर्भाशय में पनप रहे सर्विक्स के विकास को रोक देती है. और दूसरी गोली गर्भाशय को सिकुड़ने में मदद करती है. जिससे यूटेराइन लाइनिंग  बाहर आ जाता है.

गर्भपात की दवाई को शुरूआती हफ्तों में दी जाती है. अगर शुरूआती समय निकल जाता है तो फिर सर्जिकल अबॉर्शन का ही रास्ता बचता है. मेडिकल अबॉर्शन 20 हफ्तों तक ही मान्य है.

नवविवाहित जोड़े के लिए गर्भावस्था से बचने के उपाय और कैसे बचे

bacha girane ki dawai | गर्भपात की गोली | bacha girane ka medicine name

हमने नीचे कुछ दवाई के नाम बताए है. जो गर्भपात की दवाई है. जिसे डॉक्टर के द्वारा लिखा जाता हैं. डॉक्टर के निर्देशानुसार ही कोई भी दवा का सेवन करे.

Garbhpat-ki-dwa-kaise-khae-bacha-dawai-girane-goli-nam (1)

  • मिफेजेस्ट किट
  • अनवांटेड किट टैबलेट
  • फ़ाइब्रोइज 25mg टैबलेट
  • साइटोलोग

अगर आप डॉक्टर को दिखाने जाएगे. तो आपकी और आपके भ्रूण की जांच करने के बाद इनमें से कोई भी दवाई का चयन करके इन दवाई को लेने का तरीका बताएगे. उनके बताए अनुसार ही दवाई का सेवन करे. अगर दवाई लेते समय कुछ भी परेशानी होती है. या दवाई से कोई साइड इफेक्ट दिख रहे है. तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे.

गर्भपात की दवाई लेने के दौरान आपको कुछ साइड इफेक्ट दिख सकते हैं. जो हमने नीचे दिए हैं.

दूध बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा / लड़कियों के दूध बढ़ाने की दवा और घरेलु उपाय

गर्भपात की दवा के नुकसान

  • मिचली और उल्टी आना
  • डायरिया
  • थकान महसूस होना
  • ठंड के साथ या बिना ठंड वाला बुखार होना
  • चक्कर आना
  • पेल्विक वाले भाग में तेज दर्द होना
  • मांसपेशियों में दर्द होना
  • योनि में सुजन होना
  • योनि से सफ़ेद डिस्चार्ज निकलना

यह सभी साइड इफेक्ट अगर आपको दिखाई दे तो डॉक्टर से एक बार संपर्क कर ले.

स्टेमिना बढ़ाने के घरेलू उपाय और किन बातो का ध्यान रखना चाहिए

garbhpat karne ke tarika / गर्भपात करने का तरीका

आमतौर पर गर्भपात दो तरीको से किया जाता हैं.

Garbhpat-ki-dwa-kaise-khae-bacha-dawai-girane-goli-nam (2)

  • मेडिकल अबोर्शन : इस प्रक्रिया में दवाइयों की मदद से गर्भपात किया जाता है.
  • सर्जिकल अबोर्शन : इस प्रक्रिया में गर्भपात करने के लिए डाइलेशन और एवेक्युलेशन (D&E) प्रक्रिया को अपनाया जाता हैं.

भारत में गर्भपात को लेकर बहुत ही सख्त कानून बनाए गए हैं. इस कानून में गर्भपात की समय सीमा निश्चित की गई हैं. अगर आप गर्भधारण करने के बाद सात हफ्तों के अंदर अबोर्शन कराते है. तो बिना एडमिट हुए डॉक्टर के द्वारा बताई गई दवा का सेवन घर पर रहकर कर सकते हैं.

अगर सात हफ्तों के बाद अबोर्शन कराते है. तो एक दिन के लिए होस्पिटल में एडमिट रहना पड़ता हैं. जहां पर आपकी एक दिन में संपूर्ण जांच की जाती हैं. क्योंकि सात हफ्तों बाद अबोर्शन करवाने से महिलाओं में कुछ भी समस्या होने का खतरा अधिक रहता हैं.

period kitne din let ho sakta hai / पीरियड कैसे आता है / पीरियड्स में देरी के कारण

गर्भपात की दवा उपयोग करने की वजह

कोई भी महिला ऐसे ही गर्भपात नहीं करवा सकती हैं. इसके लिए भारत में बहुत सख्त कानून बने हैं. जिसे Medical Termination of Pregnancy Act (चिकित्सकीय गर्भ समापन कानून) के नाम से जाना जाता हैं. अगर नीचे दी गई वजह और कारण है. तब ही आप गर्भपात करवा सकते हैं.

  • अगर महिला का जीव जोखिम में है. वह जानलेवा परिस्थिति से गुजर रही है. तो उसकी जिंदगी बचाने के लिए गर्भपात किया जा सकता हैं.
  • अगर कोई महिला अपनी गर्भावस्था जारी रखती है. और उनके मानसिक तथा शारीरिक स्वास्थ्य को नुकसान पहुंच रहा है. तो गर्भपात करवा सकती हैं.
  • अगर महिला बलात्कार और सेक्सुअल उत्पीडन के कारण गर्भवती हुई है. तो गर्भपात करना आवश्यक होता हैं.
  • अगर गर्भपात महिला की मंजूरी से हो रहा हो.
  • भ्रूण की असामान्य वृद्धि के कारण भी गर्भपात करवा सकती हैं.

महिलाओं के पैरों में दर्द के कारण / महिलाओं के पैरों में दर्द की दवा

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से गर्भपात की दवा कैसे खाएं इस बारे में बताया हैं. तथा गर्भपात से जुडी अन्य और भी महत्वपूर्ण जानकारियां प्रदान की हैं.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह गर्भपात की दवा कैसे खाएं / bacha girane ki dawai / गर्भपात की दवा के नुकसान आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

हिप्स बढ़ाने की टेबलेट / हिप्स बढ़ाने के घरेलू उपाय और एक्सरसाइज हिप बढ़ने का क्रीम

नाक की चर्बी को कैसे कम करें / नाक छोटी करने की दवा और घरेलू उपचार / नाक की सर्जरी का खर्च

चिरायु पोषक तेल के फायदे / चिरायु पोषक तेल के बारे में बताइए / Poshak Oil uses in hindi 

2 thoughts on “गर्भपात की दवा कैसे खाएं / bacha girane ki dawai | गर्भपात की गोली का नाम”

Leave a Comment