पुराने से पुराने धात की दवा | धातु रोग की घरेलू , होम्योपैथिक, पतंजलि आयुर्वेदिक दवा

पुराने से पुराने धात की दवा / धातु रोग की घरेलू , होम्योपैथिक, पतंजलि आयुर्वेदिक दवा – आज हम धातु रोग के बारे में चर्चा करने वाले हैं. धातु का मतलब स्पर्म होता हैं. इस रोग को और भी कई विभिन्न नाम से जाना जाता हैं. जैसे की वीर्य स्खलन, धातु स्त्राव, धातु रोग, प्रमेह रोग आदि. आमतौर पर ऐसा होता है की धातु (स्पर्म) यौन क्रिया या हस्तमैथुन करने से लिंग से निकलता हैं.

लेकिन धातु रोग से पीड़ित व्यक्ति को बिना उत्तेजित हुए ही धातु लिंग से बाहर निकल जाता हैं. कई लोगो को पेशाब के दौरान भी वीर्य गिरता हैं. तो यह बहुत ही जटिल समस्या है की बिनावजह वीर्य स्खलित हो इससे व्यक्ति के दिमाग पर काफी बुरा असर पड़ता हैं.

purane-se-purane-dhat-ki-dwa-garelu-ayurvedic-homeopathic (3)

दोस्तों अगर किसी को धातु रोग की समस्या है. तो  पुराने से पुराने धात की दवा और धातु रोग की घरेलू , होम्योपैथिक, पतंजलि आयुर्वेदिक दवा आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले हैं. जिसमें हम घरेलू नुस्खे, आयुर्वेदिक दवाई तथा होम्योपैथिक दवाई के बारे में बताने वाले है. जो आपको पुराने से पुराने धातु रोग से छुटकारा दिलाने में मददरूप साबित होगा.

तो आइये इस बारे में विस्तारपूर्वक जानते हैं.

पुराने से पुराने धात की दवा

अगर आपको काफी समय से धात रोग की समस्या है. और आपका धात रोग कितना भी पुराना होगा. हमारे द्वारा बताए गए नुस्खे और दवाई से आपको जरुर लाभ होगा. नीचे हमने कुछ घरेलू नुस्खे तथा दवाई बताई हैं. जिसको करने से पुराने से पुराना धातु रोग ठीक होगा.

अंडकोष की नसों में सूजन की होम्योपैथिक दवा कौनसी है

धातु रोग की घरेलू दवा

धातु रोग की घरेलू दवा निम्नलिखित है:

  • दूध में ताल मखाना मिलाकर सेवन करने से धातु रोग की समस्या से छुटकारा मिलता हैं.
  • 125 ग्राम साफ गेहूं लेकर रात भर पानी में भिगोने के लिए रख दे. सुबह पानी निकालकर गेहूं को पीस ले. अब मिश्री मिलाकर अच्छे से छानकर सेवन करे. इससे आपको दिव्य लाभ होगा. लगभग 1 सप्ताह करने पर आपको फायदा देखने मिलेगा.
  • हरड के चूर्ण में शहद मिलाकर सेवन करने से धातु रोग में लाभ होता हैं.
  • एक नंग केला 6 मासा गाय के घी में मिलाकर सुबह-शाम नियमित सेवन करने से कुछ ही दिनों में धातु रोग से छुटकारा मिलता हैं. इस प्रयोग से अगर आपको शर्दी जैसा अहसास होता है तो आधा चम्मच शहद मिला सकते हैं.
  • बड़ी इलायची को चीनी के शरबत में मिलाकर सेवन करने से धातु रोग ठीक हो जाता हैं.
  • दूध में घी और चीनी समान मात्रा में मिलाकर अच्छे से मिक्स करले इसका सेवन करने से धातु रोग में लाभ होगा.

शीघ्र स्खलन के आयुर्वेदिक दवा Himalaya, बैद्यनाथ, पतंजलि

हमने आपको धातु रोग से छुटकारा पाने के लिए घरेलू नुस्खे बताए. यह नुस्खे का प्रयोग करे आपका पुराने से पुराना धातु रोग ठीक हो जाएगा. अब हम आपको धातु रोग के लिए पतंजलि की आयुर्वेदिक दवाई बताने वाले हैं.

धातु रोग की आयुर्वेदिक दवा पतंजलि

अगर किसी को धातु रोग की समस्या है. तो अंग्रेजी दवाई लेने से बचे. पतंजलि की आयुर्वेदिक दवाई का उपयोग करे. आप पतंजलि का अश्वगंधा पाउडर, सफ़ेद मुसली, शतावर और कोंच बिज़ पाउडर इन सभी को समान मात्रा में लेकर मिक्स कर ले.

जलने की मेडिसिन क्रीम नाम, प्राइस | जलने की दवा इन हिंदी

इस पाउडर को सुबह-शाम रोजाना 1-1 चम्मच गुनगुने दूध में मिलाकर सेवन करे. यह आयुर्वेदिक औषधि आपको धातु रोग से छुटकारा दिलाने में मददरूप होगा. आपकी धातु रोग की समस्या कुछ ही दिनों में खत्म हो जाएगी.

purane-se-purane-dhat-ki-dwa-garelu-ayurvedic-homeopathic (2)

धातु रोग की होम्योपैथिक दवा

होम्योपैथिक में धातु रोग के निवारण के लिए बहुत सारी दवाई मौजूद है. जिनके उपयोग से धातु रोग से छुटकारा पा सकते हैं.

धातु रोग की होम्योपैथिक दवा निम्नलिखित हैं:

  • सेलेनियम

अगर किसी का वीर्य बहुत ही गिर रहा हैं. वीर्य पतला हो गया हैं. वीर्य में किसी भी प्रकार की दुर्गंध नही आ रही है. तथा पेशाब के दौरान भी वीर्य गिर रहा है तो यह होम्योपैथिक दवाई बहुत ही फायदेमंद हैं.

एसिडिटी / पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के घरेलू उपाय क्या हैं

  • एसिड फास

जब किसी को ज्यादा हस्तमैथुन करने के बाद धातु रोग की बीमारी हो जाए. तथा कमजोरी का अहसास होने लगे. अगर रोगी को दुधिया पेशाब होने लगे तो तो यह होम्योपैथिक दवाई बहुत ही फायदेमंद हैं.

  • एल्यूमीना

जब किसी को कब्ज की वजह से धातु रोग हो जाए. मल त्याग के दौरान वीर्य गिरता है. तो यह होम्योपैथिक दवाई बहुत ही फायदेमंद हैं.

purane-se-purane-dhat-ki-dwa-garelu-ayurvedic-homeopathic (1)

  • वायोला ट्राइकलर

जब किसी को धातु रोग के साथ साथ लिंग में कुछ समस्या या रोग हो जाए तो यह दवाई बहुत ही फायदेमंद हैं. लिंग में खुजली की समस्या या फिर लिंग फुल जाए तो इस दवा का सेवन करे. इससे आपको फायदा होगा.

अंजीर मर्दाना ताकत बढ़ाने में सहायक जाने कैसे / अंजीर को कैसे खाना चाहिए

धातु रोग की टेबलेट

हमने धातु रोग के निवारण के लिए कुछ टैबलेट के नाम नीचे दिए हैं. जिन्हें अंग्रेजी भी कह सकते हैं. हम जो दवाई बताने वाले है उसका सेवन डॉक्टर की परामर्श से ही करे. यह दवाई आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से खरीद सकते हैं.

  • हिमालय टेनटेक्स फोर्ट टैबलेट (Himalaya Tentex Forte Tablets)
  • हिमालय टेनटेक्स रॉयल (Himalaya Tentex Royal)
  • हिमालय काबुली (Himalaya Kabuli)
  • ओह मेन हर्ब मिक्स टैबलेट (OH MAN Herb Mix Tablet)
  • ओह मेन धात ट्रीटमेंट पैक (OH MAN Dhat Treatment Pack)
  • चंद्रप्रभा वटी (Chandraprabha Vati)

कोलगेट से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करते हैं – प्रेगनेंसी टेस्ट के घरेलू उपाय और पहचान

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से पुराने से पुराने धात की दवा और धातु रोग की घरेलू , होम्योपैथिक, पतंजलि आयुर्वेदिक दवा बताई हैं. जिसमे हमने आपको घरेलू नुस्खे, आयुर्वेदिक दवाई, होम्योपैथिक दवाई और कुछ टैबलेट के बारे में भी बताया. आप अपने हिसाब से चुनाव करके कोई भी नुस्खा या दवाई ले सकते हैं. इससे आपको धातु रोग में जरुर लाभ होगा.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह आर्टिकल  पुराने से पुराने धात की दवा / धातु रोग की घरेलू , होम्योपैथिक, पतंजलि आयुर्वेदिक दवा अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

नींबू से प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें – सम्पूर्ण जानकारी Step by step

पतंजलि कंडोम तुलसी, पुदीना और चन्दन देशी फ्लेवर में प्राइस और फोटो

अंजीर मर्दाना ताकत बढ़ाने में सहायक जाने कैसे / अंजीर को कैसे खाना चाहिए

1 thought on “पुराने से पुराने धात की दवा | धातु रोग की घरेलू , होम्योपैथिक, पतंजलि आयुर्वेदिक दवा”

Leave a Comment